Home वाटरफॉल प्रकृति का मनमोहक दृश्य कांगेर धारा जलप्रपात – kanger dhara waterfall Bastar

प्रकृति का मनमोहक दृश्य कांगेर धारा जलप्रपात – kanger dhara waterfall Bastar

0
299
प्रकृति-का-मनमोहक-दृश्य-कांगेर-धारा-जलप्रपात-kanger-dhara-waterfall-Bastar

कांगेर धारा जलप्रपात kanger dhara waterfall छत्तीसगढ़ के बस्तर Bastar जिले जगदलपुर Jagdalpur में कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान स्थित है जिसे कांगेर वैली नेशनल पार्क के रूप में भगवान द्वारा प्रकृति की अविश्वसनीय सुंदरता दी गई है। इस कांगेर घाटी को कई खूबसूरत गुफाओं और झरनों द्वारा गले लगाया गया है। ऐसा ही एक झरना कांगेर धारा kanger dhara है। कांगेर धारा जलप्रपात kanger dhara waterfall देखने मे छोटा है मगर बहुत ही सुन्दर खूबसूत है ।

तीरथगढ़ जलप्रपात Teerathgarh waterfall के बनने के बाद यह रनिंग कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में प्रवेश करती है और आगे कोलाब नदी के साथ मिलकर पार्क के माध्यम से कांगेर नदी के रूप में बहती है। इस रनवे की असामान्य सुंदरता पर्यटकों को अभिभूत करने में पूरी तरह से सक्षम है।

चट्टानी संरचनाओं के माध्यम से बहती  है कांगेर नदी लगभग 20 फीट की ऊंचाई से झरती है यह जलप्रपात धीरे धीरे एक सुंदर पिकनिक स्थल बन रहा है जैसे तीरथगढ़ झरने, कोटमसर गुफा, कैलाश गुफा, दंडक गुफा और इस जगह को पर्यटन स्थलों के रूप में विकसित किया जा सकता है।

यह भी पढें – प्राकृतिक सौंदर्य तीरथगढ जलप्रपात 

कांगेर घाटी की जान तीरथगढ़ जलप्रपात Teerathgarh waterfall के बाद कांगेर धारा ही कांगेर घाटी का दूसरा सबसे सुन्दर जल प्रपात है। इस जलप्रपात का पानी कांगेर नदी पर स्थित है जो कांगेर घाटी से होकर गुजरती है  जिससे यहां मगरमच्छ स्वाभाविक रूप से कांगेर नदी के भसदार नामक स्थान पर पाए जाते हैं।

कांगेर धारा जलप्रपात kanger dhara waterfall कांगेर घाटी की गोद में होने के कारण कांगेर धरा जलप्रपात  वास्तव में कांगेर नदी में उत्पन्न होते हैं कांगेर नदी के बहाव की शुरुआत में जब नदी चट्टानों से गिरती है तो पानी के छोटे झरनों का एक शानदार दृश्य प्रस्तुत करती है, जो सुंदर कांगेर धरा का निर्माण करता है कांगेर धारा जलप्रपात के कांगेर घाटी की गोद में होने के कारण इस जलप्रपात की धारा में कांगेर नदी से लहराती चट्टानों के बीच से निकलती है।

बस्तर रहस्यमयी सुंदरियों से भरा है कांगेर वैली नेशनल पार्क की समृद्ध पारिस्थितिक जैव विविधता आपको घने जंगल कवर, भूमिगत गुफाओं, चट्टानों से बहने वाली रनवे और आदिवासियों ग्रामीणजनों के सांस्कृतिक जैसे दर्शनीय स्थलों को सुन्दर प्रभावीत करती है तीरथगढ़ झरने के रास्ते में एक आकर्षक लेकिन आकर्षक झरना है कांगेर धरा।

कब और कैसे पहुंचें?

कांगेर धारा जलप्रपात कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान जगदलपुर के जिला मुख्यालय से लगभग 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह जिला मुख्यालय जगदलपुर से सीधे जुड़ा हुआ है यहाँ से बस मार्ग से सीधे पहुँच सकते हैं रायपुर से जगदलपुर NH-43 से ट्रेन मार्ग द्वारा, जिला मुख्यालय क्वार्टर भुवनेश्वर और विशाखापट्टनम से सीधे जुड़ा हुआ है।

कांगेर धारा जलप्रपात जाने से पहले किसी भी गाइड को गाइड करने के लिए किराए पर लिया जा सकता है। यह सुविधा वन कार्यालय द्वारा वन बैरियर में कांगेर घाटी की शुरुआत में प्रदान की जाती है। 6 किलोमीटर अंदर तक पहुंचने के बाद रास्तें में कांगेर घाटी के सुंदर रेस्ट हाउस है जहाँ से कांगेर धरा जल प्रपात मात्र 3 किलोमीटर दूर है।

कांगेर धारा जलप्रपात पहुंचने का सबसे अच्छा मौसम सर्दियों से गर्मियों तक होता है, जिसके बाद यह जलप्रपात जुलाई के महीने में मानसून की शुरुआत से पर्यटकों के लिए बंद हो जाता है लेकिन यहं जलप्रपात में बारिश के मौसम में सबसे अच्छा देखने लायक होता है।

निष्कर्ष:-

कांगेर धारा जलप्रपात kanger dhara waterfall में अगर आप अपनी छुट्टियों की यात्रा का आनंद लेना चाहते हैं तो आप एक बार जरूर जाएं जंहा आप थकावट और थकान को अपने शरीर से दूर कर पाएगें आपके लिए  निश्चित रूप से एक बहुत सुन्दर यात्रा होगी। उम्मीद करता हूँ जानकारी आप को पसंद आई है। हो सके तो दोस्तो के साथ शेयर भी जरूर करे। ऐसी ही जानकारी daily पाने  के लिए Facebook Page को like करे इससे आप को हर ताजा अपडेट की जानकारी आप तक पहुँच जायेगी।

!! धन्यवाद !!  

इन्हे भी एक बार जरूर पढ़े :- 
बॉलीवुड की नजरों में हैँ ये खूबसूरत वाटरफॉल, जानें इतना खूबसूरत क्यों है? हांदावाड़ा जलप्रपात 
टाटामारी केशकाल क्यो प्रसिद्ध है ? जानिएं 
बस्तर के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल जँहा सब जाना पंसद करते है 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

%d bloggers like this: