भारत के सबसे प्रसिद्ध जलप्रपातों में से एक है, चित्रकोट जलप्रपात Chitrakote Waterfall

0
159
भारत-के-सबसे-प्रसिद्ध-जलप्रपातों-में-से-एक-है-चित्रकोट-जलप्रपात-Chitrakote-Waterfall

चित्रकोट जलप्रपात Chitrakote Waterfall :- छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले के इन्द्रावती नदी पर स्थित एक खूबसूरत जलप्रपात है… यह जलप्रपात छत्तीसगढ़ राज्य की बेहद खूबसूरत जलप्रपात में से एक है.. यह पर्यटन स्थल की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण स्थान है। यहाँ प्रतिवर्ष लाखो की संख्या में देश-विदेश के पर्यटक पहुंचते है.. यह जलप्रपात मन को मोह लेने वाला प्राकृतिक जलप्रपात बस्तर की घने जंगल प्राकृतिक की गोद मे स्थित है।

यह जलप्रपात अपने विशालता, आकर्षक व मनोहारी, सुलभ व बारहमासी स्वरूप के कारण सदैव पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र रहा है। यह जलप्रपात छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा, सबसे चौड़ा और सबसे ज्यादा जल की मात्रा प्रवाहित करने वाला जलप्रपात है… चित्रकोट जलप्रपात बस्तर संभाग का सबसे प्रमुख जलप्रपात है।

चित्रकोट जलप्रपात :-

चित्रकोट जलप्रपात बस्तर संभाग के मध्य में प्रवाहित इंद्रावती नदी छत्तीसगढ़ राज्य के दक्षिण भाग में प्रवाहित सबसे प्रमुख नदी है। चित्रकोट जलप्रपात को भारत का नियाग्रा फॉल भी कहा जाता है। इसे भारत के सबसे चौड़ा झरना होने का गौरव प्राप्त है। यह जलप्रपात इंद्रावती नदी बस्तर जिला मुख्यालय जगदलपुर के पश्चिम में चित्रकोट व तीरथा नामक गांव के बिच में एक विशाल जलप्रपात के रूप में गिरती है। इस जलप्रपात की ऊँचाई 90 फीट और 985 फीट चौड़ा है।

इस जलप्रपात की विशेषता…वर्षा के दिनों में यह जलप्रपात रक्त लालिमा लिए हुए होता है, तो वहीं गर्मियों की चाँदनी रात में यह, बिल्कुल सफ़ेद दिखाई देता है, यह संभाग में पूर्व से पश्चिम प्रवाहित होकर गोदावरी नदी से मिलती है। चित्रकोट जलप्रपात न सिर्फ छत्तीसगढ़ राज्य बल्कि भारत के सबसे प्रसिद्ध जलप्रपातों में से एक है। चित्रकोट जलप्रपात इंद्रावती नदी का सबसे खूबसूरत भाग है।

यह भी पढें – सात कुण्डों में गिरती है लंकापल्ली जलप्रपात

इसी भाग में जलप्रपात से लगभग कुछ ही दूरी पर घुमरमुंड पारा में संभवतः 11 वीं-12 वीं सदी के मध्य का छिंदक नागवंषीय राजाओं द्वारा निर्मित शिव मंदिर है, जिसमें वर्गाकार जलहरी पर विशाल शिवलिंग स्थापित है। चित्रकोट जलप्रपात के नीचे की ओर भी एक साथ कई सारे शिवलिंग है, जिन पर झरने के पानी की बुँदे पड़ने पर ऐसा लगता है…. मानो जलप्रपात जलाभिषेक हो रहा हो।

चित्रकोट जलप्रपात कहां पर स्थित है :-

यह जलप्रपात जगदलपुर से पश्चिम दिशा में 38 कि0मी0 की दूरी पर स्थित है। इस जलप्रपात के एक ओर चित्रकोट नामक ग्राम बसा हुआ है तो वहीं दूसरी ओर तीरथा नामक ग्राम बसा हुआ है। यह जलप्रपात चित्रकोट ग्राम पंचायत के अन्तर्गत आता है, यह सात मुहल्लों में बाटा गया है- घुमरमुंड पारा, पदरगुड़ा, लामड़ागुड़ा, बाहरगुड़ा, खरियागुड़ा, खालेपारा एंव इंगराभाटी पारा है। चित्रकोट जलप्रपात घुमरमुंड पारा में स्थित है।

चित्रकोट महोत्सव कब मनाया जाता हैं :-

चित्रकोट में महोत्सव प्रतिवर्ष महाशिव रात्रि के दिन मनाया जाता है इस दिन आसपास के ग्रामों के ग्रामीणों व पर्यटकों की काफी भीड़ रहती है। महाशिव रात्रि के अवसर पर तीन दिवसीय मेला का आयोजन किया जाता है… इस मेले की लोकप्रियता देखकर जिला प्रशासन द्वारा चित्रकोट महोत्सव का आयोजन किया जाता है…. जिसमें स्थानीय प्रशासन द्वारा कई विभागों के विकासीय प्रदर्शनी, जागरूकता एंव चिकित्सा से संबंधित स्टालों का निर्माण कर एंव विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

यह भी पढें – तीन पहाड़ियों के पीछे छिपी है नीलम सरई जलप्रपात

चित्रकोट जलप्रपात घूमने के लिए सबसे अच्छा समय :-

चित्रकोट जलप्रपात प्रत्येक मौसम में इस जलप्रपात की सुंदरता को निहारा जा सकता है। जुलाई से सितम्बर तक का समय सबसे उपयुक्त होता है इस झरने का आकर्षक नजारा मानसून में देखने योग्य होता है, जब नदी अपनी पूरी जोश व पूरे उफान के साथ गर्जना करते हुवे बहती है। व एक अनोखा अनुभव प्रदान करती है जो पर्यटकों को बहुत पसंद आता है….

यह जलप्रपात मौसम के अनुरूप अपने ख़ूबसूरती को प्रकट करती है… पर इस जलप्रपात का रौद्र रूप मानसून में देखने को मिलता है…. बारिश के बाद चित्रकूट जलप्रपात के ऊपर धुंधले आकाश में खुबसूरत सा इंद्रधनुष का भी नजारा देखा जा सकता हैं… यहां का इंद्रधनुष बहुत प्रसिद्ध है। नवंबर से जनवरी की सर्दियों में चित्रकोट जलप्रपात की यात्रा करने का एक अच्छा समय हो सकता है।

चित्रकोट जलप्रपात में बोटिंग :-

चित्रकोट जलप्रपात में बोटिंग समय के अनुरूप किया जाता है.. मानसून के मौसम में बोटिंग नहीं किया जाता है। अक्टूबर से मई तक बोटिंग किया जाता है, बोटिंग का मूल्य प्रत्येक व्यक्ति के अनुसार लिया जाता है।

चित्रकोट जलप्रपात कैसे पहुँचें :-

चित्रकोट जलप्रपात बस्तर जिला मुख्यालय जगदलपुर से 40 कि0मी0 और रायपुर से 340 कि0मी0 की दूरी पर स्थित है। जगदलपुर से एवं जगदलपुर के लिए नियमित बस सेवाएं, एक्सप्रेस या स्लीपर बसे चलती है.. राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 30 और रायपुर, भिलाई आदि जैसे कई अन्य राज्य राजमार्गों के एक अच्छी तरह से जुड़ा रोड़ नेटवर्क हैं। चित्रकोट जलप्रपात तक पहोचने के लिए नियमित बस सेवाएं उपलब्ध है।

एक बार आप भी चित्रकोट जलप्रपात में आकर इसकी खुबसुरती को जरूर निहारें, अगर यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कमेंट करके जरूर बताऐ और ऐसी ही जानकारी daily पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करे इससे आप को हर ताजा अपडेट की जानकारी आप तक पहुँच जायेगी।

!! धन्यवाद !!

 

इन्हे भी एक बार जरूर पढ़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here