ये है बस्तर का कोल्ड ड्रिंक, गर्मी का सर्वोत्तम पेय पदार्थ

0
238
ये-है-बस्तर-का-कोल्ड-ड्रिंक-गर्मी-का-सर्वोत्तम-पेय-पदार्थ

बस्तर का कोल्ड ड्रिंक – बस्तर का कोल्ड ड्रिंक गर्मियों में खूब पसंद किया जाता है इसे बस्तर में अक्सर गर्मियों के मौसम में ज्यादा उपयोग किया जाता है अब आप ये सोच रहे होगें की बस्तर का कोल्ड ड्रिंक है क्या ‘मंडिया पेज’ जिसे बस्तर का कोल्ड ड्रिंक कहा जाता है, अगर आप इसे पहली बार पीते है तो आपको निश्चित तौर पर यह मंडिया पेज सबसे अच्छा लगेगा।

बस्तर के बाजार में कोल्ड ड्रिंक पेप्सी, स्प्राइट जैसे शीतल पेय पदार्थ बहुत अधिक मात्रा में मिलने लगे हैं, लेकिन मंडिया पेज एक ऐसा पेय पदार्थ है जिसका कोई तोड़ नहीं है। यह मंडिया पेज बस्तर के लोगों को लू की चपेट में आने से रोकता है और यहां के लोग गर्मी में इसका भरपूर इस्तेमाल करते हैं।

अप्रेल-मई के भीषण गर्मी के बढ़ते तापमान व लू से खुद को बचाने और शरीर को ठण्डा और तरोताजा रखने के लिए मंडिया पेज का उपयोग बहुत अधिक किया जाता है। गर्मी के दिनों में शरीर के लिये जल की अधिक आवश्यकता होती है जिसे ग्रामीण इस पेज से पुरी करते है।

मंडिया पेज गर्मी के मौसम में प्यास बुझाने के साथ साथ सेहत के लिये स्वास्थ्यवर्धक, शक्ति वर्धक पेय पदार्थ होता है। यह शरीर के तापमान को नियंत्रित करने के साथ साथ पाचन क्रिया को भी ठीक करता है। प्रायः यह पेज हांडी में रखा जाता है।

कैसे तैयार किया जाता है :-

बस्तर में ग्रामीणों के द्वारा उत्पादन किये जाने वाला एक मोटा अनाज होता है। जिसे मंडिया एंव हिन्दी में रागी कहा जाता है। इसे पीस कर मंडिया के आटे को रात भर एक कटोरी में भीगा कर रखा जाता है। सुबह तक यह घोल खटटा हो जाता है। सुबह पानी में चावल डालकर पकाते है।

चावल पकने पर उबलते हुए पानी में मंडिया के घोल को उसमें डालकर अच्छे से मिलाते है। इसे स्थानीय भाषा में पेज कहते हैं। पकने के बाद इसे उतार कर ठंडा करके एक से दो दिन तक इसका सेवन किया जाता हैं। इससे शरीर को ठंडकता मिलती है और भूख भी नही लगता।

मंडिया आटे का लेप बच्चों के सर पर लगाते हैं :-

बस्तर में कई वर्षो से मंडिया का उत्पादन किया जा रहा है जिसे मंडिया पेज बनाने में उपयोग किया जाता है इससे सेवन से भीषण गर्मी का शरीर पर असर नहीं पड़ता। यह शरीर के लिए स्वास्थ्यवर्धक और लाभप्रद होता है। बस्तर में अधिकांशत: ग्रामीण मेहनती स्वभाव के होते हैं।

ग्रामीण जब भीषण गर्मी में दिनभर खेतों में कार्य एंव वनोपज आदी के संग्रहण करने के लिए घरो से बाहर निकलते है तो तुम्बा में मंडिया पेज साथ में लेकर निकलते है। जिसे भीषण गर्मी से बचाव के लिए उपयोग करते हैं, जो तेज गर्मी को शरीर पर प्रभाव पड़ने नहीं देता है।

यह भी पढें – देसी थर्मस तुमा लुप्त होता जा रहा है

ग्रामीण महिलायें तेज धूप में बच्चों को धूप से बचाव के लिए उनके सिर पर मंडिया आटा का लेप लगाती हैं जिससे बच्चे का शरीर दिन भर ठंडक रहता है। ऐसी ही जानकारी daily पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करे इससे आप को हर ताजा अपडेट की जानकारी आप तक पहुँच जायेगी।

!! धन्यवाद !!

 

इन्हे भी एक बार जरूर पढ़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here