Home हेल्थ जामुन के फायदे कई बिमारियों के लिए है रामबाण्ड इलाज – Jamun...

जामुन के फायदे कई बिमारियों के लिए है रामबाण्ड इलाज – Jamun ke Fayde

0
294
जामुन-के-फायदे-कई-बिमारियों-के-लिए-है-रामबाण्ड-इलाज-Jamun-ke-Fayde

जामुन के फायदे Jamun ke Fayde जामुन  एक सदाबहार वृक्ष है जिसके फल बैंगनी रंग के होते हैं यह वृक्ष भारत एवं दक्षिण एंव अन्य कई जगह में पाया जाता है। इसे विभिन्न घरेलू नामों जैसे जामुन, राजमन, काला जामुन, जमाली, ब्लैकबेरी आदि के नाम से जाना जाता है। जामुन गर्मी के मौसम में शुरू होकर बरसात में मिलने वाला एक फल है। जामुन को अंग्रेजी में ब्लैक प्लम (Black plum) कहते हैं।

जामुन का फल आमतौर पर काले या गहरे गुलाबी रंग का होता है और बहुत सारे औषधीय गुणों से युक्त होता है। जामुन खाने में बहुत स्वादिष्ट होता है यह 3 जातियों में पाया जाता है छोटा बड़ा एवं मध्यम तीनों के औषधि गुण एक समान ही होते हैं जामुन ही नहीं जामुन के पेड़ के सारे पंचांग औषधि के रूप में पाए जाते हैं पंचांग याने पेड़ इसके तना जड़ और इसके पत्ते तथा फूल इसकी गुठली भी कई बीमारियों को ठीक करने में कामयाब होती है जामुन बारिश के मौसम की शुरूआत होते ही बाजार में जामुन की आवक शुरू हो जाती है। रस से भरी जामुन खाना सभी पसंद करते हैं |

यह भी पढें – बस्तर के डेंगुर फुटु मशरूम क्यू इतना प्रसिद्ध है?

जामुन के फायदे और स्वास्थ्य की दृष्टि से कई विकारों को दूर करने के लिए आयुर्वेद में भी जामुन के फल, छाल, पत्तियों एवं बीजों का उपयोग जड़ी-बूटी के रूप में किया जाता है। जामुन का फल 70 प्रतिशत खाने योग्य होता है। इसमें ग्लूकोज और फ्रक्टोज दो मुख्य स्रोत होते हैं। फल में खनिजों की संख्या अधिक होती है। अन्य फलों की तुलना में यह कम कैलोरी प्रदान करता है। ज्यादातर घरों में अच्छी सेहत के लिए लोग जामुन का उपयोग स्नैक्स के रूप में भी करते हैं।

जामुन की गुठली के फायदे भी अनेक है एक मध्यम आकार का जामुन 3-4 कैलोरी देता है। इस फल के बीज में काबोहाइट्ररेट, प्रोटीन और कैल्शियम की अधिकता होती है। जामुन का उपयोग सिरका (vinegar) बनाने में भी किया जाता है जो कई विकारों को दूर करने में इस्तेमाल किया जाता है। यह लोहा का बड़ा स्रोत है। प्रति 100 ग्राम में एक से दो मिग्रा आयरन होता है। इसमें विटामिन बी, कैरोटिन, मैग्नीशियम और फाइबर होते हैं।

जामुन के फायदे (Benefits Of Jamun)

जामुन के फायदे (Benefits Of Jamun) जामुन बारिश के मौसम की शुरूआत होते ही बाजार में जामुन की आवक शुरू हो जाती है। जामुन में प्रोटीन, आयरन, विटामिन बी विटामिन सी,मैग्नीशियम जैसे बहुत सारे पौषक तत्व पाए जाते हैं। जामुन का जूस सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है रस से भरी जामुन खाना सभी पसंद करते हैं, लेकिन जामुन खाने के फायदों के बारे में शायद ही आप जानते हों। तो चलिए आज जामुन के फायदों के बारे में जानते हैं।

जामुन का नियमित सेवन करने से शरीर में खून की कमी को आसानी से पूरा किया जा सकता है।

जामुन के नियमित सेवन से शरीर की कमजोरी को दूर करने और खून की कमी की समस्या में जामुन का रस बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि जामुन आयरन का एक नेचुरल सोर्स है। इसके अलावा जामुन में प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। जामुन का फल सामान्य संक्रमण से बचाने में  भी मदद करता है। इसलिए संक्रमण से बचाव के लिए जामुन का सेवन किया जाता है।

जामुन के सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। Also Read – इन असरदार योगासन से महिलाएं खुद को स्वस्थ और सुंदर बना सकती हैं जामुन के नियमित सेवन से याददाश्त भी बढ़ाता और और सेक्सुअल कमजोरी की परेशानी को दूर करता है।  एक चम्मच जामुन के रस  में एक चम्मच शहर और एक चम्मच आंवला का रस मिलाकर प्रतिदिन सुबह खाने से यौनशक्ति बढ़ती है।

जामुन सेहत के साथ खूबसूरती को बरकरार रखने में भी सहायक होता है। जामुन को पीसकर पेस्ट बनाकर सफेद दाग या चेहरे पर लगाने से दाग-धब्बे हल्के होते हैं और त्वचा में निखार आता है। इस उपाय को सप्ताह में कम से कम 2-3 बार जरूर करें।

जामुन में जीवाणुरोधी, संक्रमणरोधी और मलेरिया रोधी गुण पाया जाता है। जामुन के फल में मैलिक एसिड, गैलिक एसिड, ऑक्जैलिक एसिड और बेटुलिक एसिड पाया जाता है।

जामुन का नियमित रुप से सेवन करने पर पाचन तंत्र मजबूत होता है। जिससे पेट संबंधी बीमारियों में राहत मिलती है। जामुन की छाल का चूर्ण या जामुन के सिरके का दिन में 1-2 बार सेवन करने से अपच, एसिडिटी और पेट में मरोड़ या ऐंठन में लाभ मिलता है। जामुन में  विटामिन A आंखों के लिए लाभकारी होता है और यह जामुन में बहुतायत पाया जाता है। इसके अलावा जामुन में खनिज और विटामिन सी भी पाया जाता है जो त्वचा के लिए भी अच्छा माना जाता है।

चेहरे के मुंहासे के इलाज में भी जामुन का प्रयोग किया जाता है। जामुन के बीज को पीसकर इसमें गाय को दूध मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें और रात में सोने से पहले इसे चेहरे पर लगाएं और सूखने के थोड़ी देर बाद चेहरे को पानी से धोकर पोंछ ले। मुंहासे कुछ ही दिनों में दूर हो जाते हैं।

अगर आप मुंह में होने वाले छाले से परेशान रहते हैं, तो ऐसे में रोजाना 100 ग्राम जामुन खाएं। ऐसा करने से आपका पेट साफ होगा और मुंह के छाले कुछ ही दिनों में खत्म हो जाएगें। क्योंकि मुंह में छाले पेट की खराबी यानि कमजोर पाचन तंत्र की वजह से होते हैं।

जामुन की छाल और बीज का पावडर पेट में गैस की समस्याओं को दूर करने में उपयोग किया जाता है। इसके अलावा यह डायरिया, अपच और पेचिश के इलाज में भी बहुत प्रभावी रूप से काम करता है। इसलिए लोग पेट की इन समस्याओं के निजात पाने के लिए जामुन का उपयोग करते हैं।

जामुन डायबिटीज यानि शुगर पेशेंट्स के लिए अमृत है। जामुन की गुठलियों को पीसकर चूर्ण बनाकर दिन में 2 बार सेवन करने से शरीर में इंसुलिन का स्तर नियंत्रित रहता है। इसके अलावा जामुन खाना भी फायदेमंद रहता है। जामुन  खाने से  दाद  के इलाज में भी जामुन बहुत फायदेमंद होता है। जामुन के रस को थोड़े से पानी में मिलाकर त्वचा पर लोशन के रूप में लगाने से दाद की समस्या ठीक हो जाती है।

निष्कर्ष:-

जामुन के फायदे Jamun ke Fayde हमारी दादी नानियों के द्वारा उपयोग की जाने वाले नुस्खों पर आधारित है. यह भी सही है कि हर एक का शरीर एक दुसरे से अलग होता है और तासीर अलग होती है सभी वनस्पति सभी के लिए लाभदायक साबित नहीं होती इसलिए किसी भी वनस्पति का का प्रयोग आप अपने संयम से करें तथा किसी पेड़-पौधे /फल के प्रयोग से पहले किसी चिकित्सक या किसी जानकार की सलाह जरूर लें उम्मीद करता हूँ जानकारी आप को पसंद आई है। हो सके तो दोस्तो के साथ शेयर भी जरूर करे। ऐसी ही जानकारी daily पाने  के लिए Facebook Page को like करे इससे आप को हर ताजा अपडेट की जानकारी आप तक पहुँच जायेगी |

!! धन्यवाद !!

इन्हे भी एक बार जरूर पढ़े :- 
क्या आप कभी कुसूम कोसम खाए है? 
पपीता खाने के जबरदस्त फायदे आपको हैरत में डाल देंगे
मुनंगा सहजन खाने से पहले एक बार जरूर पढें 
चिरौंजी खाने के अद्भुत फायदे नव जीवन दे सकती है चिरौंजी
चरोटा भाजी औषधि गुणों का खजाना

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

%d bloggers like this: