बालों की देखभाल के घरेलु नुख्से – Hair Care Tips In hindi

0
199
बालों-की-देखभाल-के-घरेलु-नुख्से-Hair-Care-Tips-In-hindi

Hair Care Tips In hindi :- आजकल बालों के झड़ने की समस्या आम बात हो गयी है. अनियमित दिनचर्या, हानिकारक उत्पादों के प्रयोग के कारण बालों का असमय सफ़ेद होना, गंजापन, बालों का टूटना और रुसी की समस्या बहुत तेजी से बढ़ रही है. आज के Hair Care Tips in hindi लेख में मैं आपको बालों की समस्या के कारण और निदान के बारे में बताऊंगा।

Hair Care Tips in hindi

खुबसूरत दिखने के लिए खुबसूरत बालों का होना भी बहुत जरुरी है. लेकिन आजकल के प्रदूषित वातावरण के कारण बालों का झड़ना, बालों का असमय सफ़ेद होना जैसी दिकक्तों का सामना हर किसी को करना पड़ रहा है. बालों की समस्या के कई कारण है।

बाल झड़ने के कारण – Hair Care Tips in hindi

  1. तेज धुप से बाल रूखे और सख्त हो जाते है और बालों का रंग भी बदलने लगता है. इसलिए तेज धुप से बालों को यथा संभव बचाए रखे।
  2. धुल मिटटी से बालों के जड़े कमजोर हो जाती है जिससे बाल झड़ने और रुसी की समस्या बढ़ जाती है।
  3. खारे पानी से बाल न धुले क्यूंकि खारे पानी में क्लोरिन की मात्रा अधिक होती है इससे बाल आपस में चिपकने लगते है और कंघी करने पर अधिक मात्रा में झड़ने व टूटने लगते है।
  4. स्विमिंग पूल में नहाते समय स्विमिंग कैप का प्रयोग करे।
  5. महीन दांत वाले कंघे के प्रयोग से बचे. और कम से कम कंघे का प्रयोग करे. गीले बाल कंघी न करे।
  6. हार्ड  केमिकल वाले शैम्पू, डाई और कंडिशनर का प्रयोग न करे।
  7. सप्ताह में अधिक से अधिक 2 से तीन बार ही शैपू करे. शैम्पू का अधिक प्रयोग करना हानिकारक हो सकता है।
  8. कई लोगों में बालों के झड़ने और गंजेपन के पीछे अनुवांशिक कारण भी हो सकता है।

बालों की देखभाल के घरेलु नुख्से – Natural Hair Care Tips in hindi

  • सौन्दर्य विशेषज्ञों के अनुसार नियमित रूप से योग व्यायाम करने से बालों का गिरना रुकता है. क्यूंकि व्यायाम करने से रक्त संचार अच्छी तरह से होता है जिससे बालों की जड़ों को मजबूती मिलती है।
  • माइल्ड शैम्पू का प्रयोग करे. क्यूंकि माइल्ड शैम्पू में केमिकल पदार्थों का प्रयोग कम होता है. और यह भी ध्यान रखे आप जो शैम्पू प्रयोग कर रहे है उसमे प्रिजरवेटिव कम से कम मात्र में हो।
  • अपने आहार में Healthy Diet का प्रयोग अधिक से अधिक करे. कच्ची सब्जियां और अंकुरित अनाज को अपने नाश्ते में सम्मिलित करे.  अपने भोजन में सलाद, मट्ठा और दूध को प्रमुखता से सम्मिलित करे।
  • पानी का प्रयोग अधिक से अधिक करे. अधिक मात्र में पानी पीने से शरीर में मौजूद हानिकारक तत्व बाहर निकल जाते है और हमारा इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है जिससे हमारे बालों को अंदरूनी तौर पर भी पोषण मिलता है।
  • यदि आपके बाल बहुत अधिक झड़ते है तो एक गिलास दूध में थोड़ी सी हल्दी मिला कर रोज शाम को पिए. ऐसा करने से बालों की जड़े मज़बूत होती है और साथ में अन्य बीमारियाँ भी ठीक हो जाती है. सेहत के लिए हल्दी वाले दूध के फायदे बहुत है।
  • बालों के लिए बादाम का तेल सबसे ज्यादा फायदेमंद है. इससे बालों का रूखापन ख़तम होता है और बालों की जड़ मजबूत बनती है।
  • नारियल का तेल, सरसों का तेल भी बालों के लिए फायदे मन्द है. ऐसे किसी भी तेल का प्रयोग न करे जिसमे पेट्रोलियम आदि हानिकारक पदार्थो का प्रयोग होता हो।
  • बालों को कलर करने के लिए हमेशा प्राकृतिक मेंहदी का प्रयोग करे क्यूंकि बाजार में मिलने वाली मेंहदी में केमिकल का प्रयोग होता है।
  • यदि बाल औसत से ज्यादा झड़ते है तो नियमित रूप से बालों की मसाज करे. मसाज करने के लिए सरसों के तेल या बादाम के तेल में कुछ बूंद नीबू का रस मिला ले और बालों की जड़ों की हलके हाथो से मालिश करे।
  • यदि आपको रुसी (dandruf) भी है तो नीम के पत्त्तों को पानी में उबल और इस पानी से बालों को 5-7 दिन तक धुले. इससे बालों की रुसी ख़तम होती है व गंजेपन को रोकता है।

शैंपू – Shampoo

बालों को लंबा, घना और स्वस्थ बनाए रखने के लिए जरूरी है कि उन्हें साफ-सुधरा रखें। साथ ही हर्बल हेयर केयर उत्पादों का चुनाव करें। शैंपू भी इनमें से एक है। हर तरह के बालों के लिए शैंपू भी अलग-अलग होते हैं। इसलिए, जब भी शैंपू चुनें, इस बात का ध्यान जरूर रखें।

रूखे बालों के लिए :- शैंपू ऐसा होना चाहिए, जो बालों को मॉश्चराइज करे और उन्हें मुलायम बनाए। ऐसा कोई शैंपू न लें, जो स्कैल्प में मौजूद प्राकृतिक तेल को भी सुखा दे। इससे बाल और रूखे व बेजान हो जाएंगे। रूखे बालों के लिए शैंपू लेने से पहले जांच लें कि उसमें एवोकाडो, नारियल, आर्गन या फिर ग्रेपसीड का तेल जरूर हो। साथ ही रूखे बालों में शैंपू करने के बाद कंडीशनर का प्रयोग जरूर करें।

तैलीय बालों के लिए :- इस तरह के बालों के लिए ऐसा शैंपू न लें, जो मॉइस्चराइजिंग व कंडीशनर का काम करता हो। तैलीय बालों को और मॉइस्चराइजिंग की जरूरत नहीं होती। तैलीय बालों में डैंड्रफ की समस्या आम होती है। इसलिए, एंटी-डैंड्रफ शैंपू का चुनाव करें। ऐसे बालों के लिए नींबू युक्त शैंपू बेहतर होता है।

सामान्य बालों के लिए :- इस तरह के बाल न तो ड्राई होते हैं और न ही तैलीय, इसलिए ऐसे बालों के लिए कोई भी सामान्य शैंपू प्रयोग कर सकते हैं। ध्यान रहे कि यह शैंपू हर्बल और अच्छे ब्रांड का होना चाहिए।

बालों के देखभाल के लिए कुछ टिप्स – Other Hair Care Tips in Hindi

तेल मालिश :  हफ्ते में कम से कम एक बार सिर की मालिश जरूर करनी चाहिए। मालिश करने से स्कैल्प को जरूरी पोषण मिलता है और रूखापन दूर होता है। साथ ही बाल जड़ों से मजबूत होते हैं और लंबे व घने होने लगते हैं।

मालिश के लिए आप नारियल, जैतून, बादाम या फिर अरंडी का तेल इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर तेल को हल्का गर्म करके लगाया जाए, तो अच्छा असर होता है। साथ ही इसे नहाने से आधा या एक घंटा पहले लगाना चाहिए। वहीं, अगर आप रात को मालिश करके सोते हैं, तो और भी अच्छे परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

प्रदूषण से बचाव :  इन दिनों हर जगह प्रदूषण बढ़ गया है, जो बालों की सेहत के लिए अच्छा नहीं है। प्रदूषण की वजह से स्कैल्प में संक्रमण, खुजली, डैंड्रफ या फिर लाल धब्बे हो सकते हैं। इससे बाल जड़ों से कमजोर होकर टूटने लगते हैं और समय पूर्व गंजेपन का सामना करना पड़ता है। इसलिए, जितना संभव हो बालों को प्रदूषण से बचाना चाहिए। इसके लिए आप इस लेख में बताए गए घरेलू नुस्खों को आजमा सकते हैं।

ट्रिमिंग है जरूरी :  जिस प्रकार स्वस्थ रहने के लिए तय समय पर संतुलित भोजन करना जरूरी है, उसी प्रकार बालों के विकास व स्वास्थ्य के लिए निश्चित समयांतराल पर ट्रिमिंग करवाना भी जरूरी है। इससे बाल न तो उलझते हैं और न ही दोमुंहे होने की आशंका होती है, जिससे इनका विकास ठीक तरह होता है।

बालों पर न करें प्रयोग :  हम सुंदर दिखने के लिए बालों पर कई तरह के प्रयोग करते हैं। बालों के तरह-तरह के स्टाइल बनाने के लिए न जाने कितने केमिकल युक्त उत्पाद इस्तेमाल करते हैं। विभिन्न तरह के केमिकल से बालों की कुदरती चमक खो जाती है। साथ ही जड़ों से कमजोर होकर टूटने लगते हैं। बेहतर यही होगा कि आप बालों के लिए हर्बल प्रोडक्ट का प्रयोग करें।

गर्म पानी से बचें :  कई लोग बाल धोने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करते हैं, जो गलत है। गर्म पानी से बालों की नमी खाने लगती है और रूखे व बेजान होने लगते है। इस कारण कुछ समय बाद बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं। इसलिए, गर्म पानी की जगह हल्का गुनगुना पानी या फिर ठंडा पानी इस्तेमाल करें।

बालों पर लगाएं कंडीशनर :  अक्सर लोग शैंपू करने के बाद कंडीशर को सीध स्कैल्प प लगाते हैं, जो गलत है। इसकी जगह कंडीशर को बालों के ऊपर लगाएं और करीब दो मिनट बाद ही पानी से धो देना चाहिए।

रोज न धोएं बाल :  कई लोग सोचते हैं कि बालों की सफाई के लिए इन्हें रोज धोना चाहिए, लेकिन ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है। रोज बाल धोने से इनकी नमी खो जाती है और स्कैल्प से प्राकृतिक तेल खत्म हो जाता है। इससे बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं।

ऐसे सुखाएं बाल :  बालों को धोने के बाद उन्हें तौलिये से रगड़कर साफ करनी की जगह हल्के हाथों से सुखाएं। साथ ही माइक्रोफाइबर वाले तौलिये का प्रयोग करें। इसके अलावा, बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल न करें। इससे बाल जड़ों से कमजोर होते हैं।

सिर को ढकें :  जब भी घर से बाहर निकलें, तो बालों को कैप या फिर सूती कपड़े से ढक लें, ताकि सूरज की हानिकारक किरणों से बालों को नुकसान न हो।

बालों का रखरखाव करना उतना मुश्किल नहीं है, जितना हम सोचते हैं। बस अपनी व्यस्त दिनचर्या में से कुछ समय निकालना होगा। यकीन मानिए, इस लेख में दिए गए घरेलू नुस्खों का प्रयोग करने से आपके बालों को जरूर फायदा होगा।

यहां बताई गई किसी भी सामग्री से आपको एलर्जी है, तो उसे प्रयोग करने से पहले अपने हाथ पर लगा कर चेक कर लें। अगर आपको जलन होती है, तो उसे प्रयोग न करें। जानकारी आप को पसंद आई है ऐसी ही जानकारी पाने के लिये हमें Facebook Page को like करे इससे आप को हर ताजा अपडेट की जानकारी आप तक पहुँच जायेगी  

!! धन्यवाद !!

इन्हे भी एक बार जरूर पढ़े :-

  1. महुआ के अदभुत फायदे – Mahua ke fayde

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here