तुलसी के फायदे और नुकसान – Tulsi ke fayde or nukshan

0
217
Tulsi-ke-fayde-or-nukshan-तुलसी-के फायदे-और-नुकसान

Tulsi ke fayde आईये तुलसी के पत्तों के गुणों के बारे में जानते है प्राय इसका उपयोग कम ही करते हैं। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि Tulsi ke fayde फूलों में कई तरह के रासायनिक तत्व पाए जाते हैं जो अनेक बीमारियों को रोकने व उसे जड़ से खत्म करने तक की ताकत रखते हैं। इसी वजह से कई बीमारियों की दवा में तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल किया जाता है।

तुलसी शरीर के लिए अंदरूनी व बाहरी दोनों ही रूपों के लिए Tulsi ke fayde है। तुलसी में कई प्रकार के गुण होने के कारण तुलसी के पत्ते ही नहीं बल्कि इसकी टहनी, फूल, बीज आदि सभी भागों को इलाज के लिए प्रयोग में लाया जाता है। Tulsi ke fayde सर्दी जुकाम में इस्तेमाल सदियों से होता चला आ रहा है।

तुलसी के प्रकार

हिन्दू धर्म व आयुर्वेद की दृष्टि से तुलसी के गुण अतुल्य हैं। ये अनमोल पौधा पांच तरह का होता है| जानिए तुलसी के प्रकार –
राम तुलसी
श्यामा तुलसी
श्वेत/विष्णु तुलसी
वन तुलसी
नींबू तुलसी

तुलसी पत्ते के फायदे – Health Benefits

तुलसी का पौधा हर घर में पाया जाता है, ये एक आयुर्वेदिक औषधि है, आइए जानते हैं Tulsi ke fayde के बारे में –
स्किन इंफेक्शन से राहत
दस्त होने पर
सांस की दुर्गंध दूर करने के लिए
चोट लग जाने पर
सर्दी -खांसी में फायदेमंद
अनियमित पीरियड्स की समस्या में

स्किन इंफेक्शन से राहत

Tulsi ke fayde तुलसी के पत्तों शरीर के किसी भी प्रकार के स्किन इंफेक्शन को रोकने के लिए से बेहतर कोई भी औषधि नहीं है। आपको किसी तरह का स्किन इंफेक्शन है तो बेसन के साथ तुलसी के पत्तों का पेस्ट बना कर स्किन पर लगाएं, Tulsi ke fayde मिलेगा।

दस्त होने पर

Tulsi ke fayde तुलसी के पत्तों का इलाज आपको फायदा देगा. अगर आप दस्त से परेशान हैं तो तुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीस लें. इसके बाद उसे दिन में 3-4 बार चाटते रहें. ऐसा करने से दस्त रुक जाती है |

सांस की दुर्गंध दूर करने के लिए

Tulsi ke fayde तुलसी के पत्तों का सांस की दु्र्गंध को दूर करने में भी काफी फायदेमंद होते हैं और नेचुरल होने की वजह से इसका कोई साइडइफेक्ट भी नहीं होता है. अगर आपके मुंह से बदबू आ रही हो तो तुलसी के पत्तों को चबा लें. ऐसा करने से दुर्गंध चली जाती है.

चोट लग जाने पर

Tulsi ke fayde तुलसी के पत्तों को अगर आपको कहीं चोट लग गई हो तो फिटकरी के साथ मिलाकर लगाने से घाव जल्दी ठीक हो जाता है. तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल तत्व होते हैं जो घाव को पकने नहीं देता है. इसके अलावा तुलसी के पत्ते को तेल में मिलाकर लगाने से जलन भी कम होती है |

सर्दी -खांसी में फायदेमंद

तुलसी के पत्तों सर्दी- जुखाम के लिए रामबाण का काम करती है। मौसम में बदलाव होने कारण अधिकतर लोगों की तबियत खराब हो जाती है। दवाई लेने से बुखार तो कम हो जाता है लेकिन खांसी और कफ लंबे समय तक बना रहता है। ऐसे में Tulsi ke fayde घरेलु नुस्खे अपनाने से तुरंत आराम मिलता है।

अनियमित पीरियड्स की समस्या में

अक्सर महिलाओं को पीरियड्स में अनियमितता की शिकायत हो जाती है अनियमित या देरी से पीरियड का आना आजकल ज्यादातर लड़कियों की आम समस्या बनता जा रहा है। ऐसे में तुलसी के बीज का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है. मासिक चक्र की अनियमितता को दूर करने के लिए तुलसी के पत्तों का भी नियमित किया जा सकता है |

तुलसी के पत्ते खाने के फायदे Tulsi ke fayde

  • यौन रोगों के इलाज में तुलसी के बीजों का उपयोग होता है।
  • गर्भवती महिलाओं में उल्टी की समस्या होने पर भी तुलसी के पत्ते फायदेमंद साबित होते हैं।
  • मोटापा या वजन कम करने के लिए रोजाना तुलसी का रस पीना फायदेमंद साबित होता है।
  • इससे हार्ट अटैक आने की आशंका भी कम होती है।
  • यौन रोगों के इलाज में तुलसी के बीजों का प्रयोग होता है।
  • धूम्रपान छोड़ने में तुलसी काफी मददगार साबित होती है।

आईये जानते है तुलसी से जुड़ी कुछ जरूरी बातें

तुलसी के पौधे में ऐसे कई गुण होते हैं जो बहुत सी बीमारियों को दूर करने में मदद करते हैं। आयुर्वेद में तुलसी को संजीवनी बूटी माना जाता है क्योंकि Tulsi ke fayde पौधा सिर्फ सेहत ही नहीं घर को भी बुरी नजर से बचाता है। आइए जानते हैं तुलसी के पौधे से जुड़ी कुछ खास बातें –
तुलसी के पत्ते को कभी चबाने नहीं चाहिए
रविवार के दिन तुलसी को स्पर्श नहीं करना चाहिए
शिव और गणेश पूजा में वर्जित है तुलसी
तुलसी का सूखा पौधा रखना सही नहीं है

तुलसी के पत्तों के नुकसान

तुलसी के पत्तों का तासीर हल्की गर्म होती है इसीलिए सर्दियों में इसे खाने से शरीर में कोई नुकसान नहीं होता है लेकिन गर्मियों में इसके अत्यधिक सेवन से परेशानी हो सकती है। वहीं जो लोग डायबिटीज़ जैसे रोगों की दवाई ले रहे हैं उन्हें तुलसी का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे शरीर में ब्लड शुगर कम ज्यादा होने की आशंका हो सकती है। अगर आप दिन में रोजना 2 से ज्यादा बार तुलसी की चाय पीते हैं तो आपको सीने में और पेट में जलन, एसिडिटी जैसी समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है। आज हमने जाना तुलसी के फायदे और नुकसान के बारें में उम्मीद करता हूँ जानकारी आप को पसंद आई है। अगर आप को यह जानकारी पंसद आया हो तो अपने दोस्तो के साथ शेयर करे | ऐसी ही जानकारी daily पाने के लिए Facebook Page को like करे इससे आप को हर ताजा अपडेट की जानकारी आप तक पहुँच जायेगी

!! धन्यवाद !!

Next articleअदरक खाने के चमत्कारी फायदे- Adrak Khane ke Fayde
इस वेबसाईट से आप बस्तर के कला संस्कृति, मंदिर, जलप्रपात, पर्यटक स्थल, स्मारक, गुफा , जीवनी और अन्य रहस्यमय जगह के बारे में सुंदर और सहज जानकारी प्राप्त कर सकते है। व आप इस वेबसाईट के माध्यम से बस्तर को और भी अच्छे से करीब से जान पायेगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here